Thursday, 9/6/2016 | 5:05 UTC+0

सेमीनार बा उनवान
नेशनल ईशूज़ और उसका हल

तरीख: 21 दिसम्बर
मक़ाम: इमारत शरइया, पटना
तदाद: मक़ालातः 6

सेमिनार का इफ़तिताह अमीरे शरीयत मौलाना सय्यद निज़ामुद्दीन साहब ने किया फिर मक़ाला निगारान और अहले फि़क्र ने मुख़्तलिफ़ मौज़ूआत पर तफसील से गुफतगू की। हिन्दूस्तान के अहम मसाइल बिलख़ुसूस मुलकी मसाइल, फ़क्र व फ़ाक़ा, क्रप्शन, ज़ुल्मो जि़यादती, तालीमी व इक़्तेसादी बदहाली, ख़्वातीन के खि़लाफ़ तशद्दुद, ख़ूद कुशी, इन जैसे दीगर मसाइल का तफसील से जायज़ा लिया गया और इस्लाम की रौशनी में उनका हल पेश किया गया।

 

 

सेमीनार ब उनवान
उम्मत और वहदते उम्मत

तारीख: 27 दिसम्बर
मक़ाम : सेन्टर फार अरबिक इस्लामिक स्टादडीज़, नई दिल्ली

उम्मत में यूनीटी कैसे क़ाइम हो, इत्तिहाद की राह में क्या दुशवारिया हैं। इख़तिलाफात की ख़लीज कैसे कम की जाए। मसालिक के दरमियान और अलग नज़रियात के हामिल गिरोहों के दरमियान ताल्लुक़ात कैसे मज़बूत हों, इन सब पर तफसील से गुफतगू की गई, मक़ालात पेश किये गए। अलीगड़, जामिया मिल्लिया इस्लामिया के असातिज़ा, आई ओ ऐस के दानिशवरान और देवबन्द व दिल्ली के उलेमा ने इस पर बहस की।

सेमिनार ब उनवान
फि़क़्ही मसालिक और उनमें इत्तिहाद की बुनियादें

तारीख़ : 12 नवम्बर
मक़ाम: माहदुल इस्लामी, हैदराबाद
तादाद मक़ालात: 3

इस सेमिनार में अहले सुन्नत और गै़र अहले सुन्नत के मसालिक का तारीख़ी तनाज़ुर में तारुफ़ पेश किया गया। तमाम फि़क़्ही मसालिक पर तफसील से गुफतगू हुई और मुबाहसा हुआ। प्रो0 मुहसिन उस्मानी साहब ने सदारत की।

सेमिनार ब उनवान
नए मसाइल और फि़क़्हे इस्लामी

तारीख़: 13 नवम्बर
मक़ाम: मौलाना आज़ाद यूनिवर्सटी, हैदराबाद
तादाद मक़ालात: 18
तादाद मौज़ूआत: 16

शुबा इस्लामिक स्टाडीज़, मानो, हैदराबाद में यह सेमिनार मुनअकि़द हुआ जिस में डा0 ख़्वाजा शाहिद, डा0 रहमतुल्लाह, डा0 फ़हीम अख़्तर, डा0 इरफ़ान, डा0 वारिस मज़हरी, डा0 सफ़दर ज़ुबैर ने मक़ाला पेश किया। उलेमाए हैदराबाद भी ाशरीक रहे। डा0 समीना ताबिश ने शुक्रिया अदा या।

सेमिनार ब उनवान
हिन्दूस्तान में औक़ाफ़

तारीख़: 30 मार्च 2014 ई0
मक़ाम: बैगंलूर
तादाद मक़ालात: 40

हिन्दूस्तान की मुख़तलिफ़ रियासतों में औक़ाफ़ की ताज़ा सूरते हाल, निज़ाम, क़ानून के मौज़ू पर सेमिनार मुनअकि़द हुआ जिस में वक़्फ़ बोर्ड के जि़म्मेदारान, मुमताज़ माहेरीने क़ानून, वक़्फ़ से वाबस्ता अफ़राद, जजेज़, वकला, सहाफ़ी और अहले फि़क्र शरीक हुए। हर सूबा व रियासत के औक़ाफ़ का तजजि़या पेश किया गयां वक़्फ़ से मुताल्लिक़, क़वानीन, दुशवारियों का इल्मी जाइज़ा लिया गया। अग्रंज़ी, अरबी, उर्दू तीनों ज़बानों में मक़ालात पेश हुए और डिसकशन हुए।

सेमिनार के आखि़र में मुफ़ीद तजावीज़ को मन्ज़ूरी दी गई। जनबा के रहमान ख़ान साहब, अब्दुस्सत्तार क़ुरैशी, शकील समदानी, मुशताक़ सिद्दीक़ी, डा0 सलीम बेग, प्रो फ़ैज़ी, रिज़वानुल हक़, ऐजाज़ हुसैन, डा0 शमीम अहमद, ज़फ़रयाब जीलानी, डा0 उबैदुल्लाह, मौलाना ख़ालिद रहमानी बतौरे ख़ास शरीक रहे।

सेमीनार ब उनवान
हिन्दूस्तानी मज़ाहिब के साथ मुज़ाकिरात

तारीख़: 18 नव्म्बर
मक़ाम: जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली
तादाद मक़ालात: 10

वाइस चांस्लर प्रो0 तलअत ने इस सेमिनार का इफतिताह किया, प्रो0 अख़्तरुल वासे और प्रो0 मुहसिन उस्मानी ने हिन्दूस्तानी मज़ाहिब के दरमियान डाइलाग पर तफ़सील से मुवस्सिर गुफतगू की।

असातिज़ा, अहले फि़क्र ने सेमिनार में इल्मी शिरकत की। डा0 आबिदा, डा0 फ़रीदा, डा0 इस्हाक़, डा0 मुशताक़, डा0 ज़ुबैर ज़फ़र, डा0 ख़ालिद वगैरा ने मक़ालात पढ़े और सवालात के जवाबात दिए।

सेमिनार ब उनवान
फि़क्रे इस्लामी

तारीख़: 9 दिसम्बर
मक़ाम: जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली
तादाद मक़ालात: 12

फि़क्रे इस्लामी की तारीख़ व तारुफ़ पर अलीगड़, जामिया मिल्लिया और मर्कज़ जमात के मुमताज़ अहले इल्म असातिज़ा ने मक़ालात पेश किए और गुफतगू की।

23वा फि़क़्ही सेमिनार

तरीख़: 1-3 मार्च
मक़ाम: जम्बूसर, गुजरात
तदाद मक़ालात: 271
मौज़ूआत: शहरियत के मसाइल, हिबा के मसाइल, वसीयत व मीरास के मसाइल, इसतिसना के मसाइल

इस सेमिनार में 300 उलेमा शरीक हुए, इस्लामी क़ानून की रौशनी में सवालात के जवाबात, मक़ालात की तलख़ीस और मुबाहसा की रौशनी में हल पेश किए गए। बैरुने हिन्द से भी उलेमा हाजि़र हुए, हिन्दूस्तान के तमाम अहले इल्म इसमें मौजूद रहे। सेमिनार के तमाम मक़ालात किताबी सूरत में मुरर्तब हो गए हैं और तमाम फ़ैसले भी शाए हो चुके हैं।

सेमिनार ब उनवान
तालीमे क़ुरआन ओर उसके इदारे

तारीख़: 25-27 जनवरी
मक़ाम: हैदराबाद
तदाद मक़ालात : 12
तादाद शुरका: 60

क़ुरआन की तालीम और तालीमे क़ुरआन के मौजूद इदारों के निज़ाम को मज़ीद बेहतर कैसे बनाया जाए, इस पर ग़ौर व फि़क्र करने के लिए अल हैययतुल आलमिया लेतहफ़ीजील क़ुरआन, एसेसको के तावून से चार रोज़ा तरबीयती प्रोग्राम असातिज़ा के लिए मुनअकि़द किया गया जिस में मिस्त्र, शारीक़ा और मक्का से भी माहिर असातिज़ा शरीक हुए, जिन्होंने मक़ालात व गुफतगू, सवालात व जवाबात से असातिज़ा को मुतमइन किया और फ़ाइदा पहूंचाया।

2014 के तहक़ीक़ी मक़ालात

1. पैट्रौल पर ज़क़ात

2. हिन्दूस्तानी मदारिस में उलूमे हदीस की तदरीस

3. दारुल उलूम देवबन्द का मुल्की सियासत में हिस्सा

4. हिन्दूस्तान की इमारते मुल्की शरइया

2014 के तरजमे
अरबी से उर्दू में किताबों के तरजमे
(तक़रीबन 11 किताबों के तरजमे हुए)

1. मुस्लिम ख़्वातीन और सियासत

2. इज्तिमाई इज्तिहाद

3. एतेदाल की फि़क़्ह

4. वसतियत

5. डसूले फि़क़्ह की कलीद

6. शरीयत व सियासत के दरमियान

2014 में मक़ालात के तरजमे
(तक़रीबन 20 मक़ालात के तरजमे हुए)

1. फि़क़्हुल वाके़

2. तजदीदे फि़क़्ह

3. नवाजि़ल से इस्तिफ़ाद के तरीक़े

4. तक़सीमदार

5. शहरियत

6. मुस्लिम का काफि़र की विरासत में हिस्सा

2014 के लेक्चर्स

1. हिन्दूस्तान की ग़ैर मुस्लिम तन्ज़ीमें     31 मई     जनाबा सय्यद जावेद अली साहब

2. सऊदी अरब की फि़क़्ही खि़दमात     17 दिसम्बर     डा0 उज़ैर शम्स साहब

3. मस्जिदे अक़्सा     1 नवम्बर     डा0 ज़फ़रुल इस्लाम ख़ान साहब

4. हिन्दूस्तानी मुस्लिम समाज को दरपेश चैलैन्जेज़     22 अक्टूबर     मौलाना ख़ालिद सैफ़ुल्लाह रहमानी साहब

5. नए मसाइल और फि़क़्ह इस्लामी     4 सितम्बर     डा0 बदरुल हसन साहब

6. इस्लाम के बारे में मग़रिब के शुबहात     12 सितम्बर     डा0 अताउल्लाह साहब

 

Recent tweets

Bad Authentication data.. Please read document to config it correct.

About Us

Islamic Fiqh Academy (India) (IFA) was established in 1988 at New Delhi under the guidance and supervision of the great known Islamic Scholars.

Contact Us

Contact

Email:

Phone:

Fax:

Address: